जोड़ों की समस्या – तेल मालिश से उपचार
 योगी योगानंद
, जोड़ों के उपचार में विभिन्न आयुर्वेदिक तेलों का निर्माण और प्रयोग की विधियों की , आप किसी भी एक विधि का प्रयोग करके अपनी समस्या को दूर कर सकते है, सभी की अलग अलग समस्या होने से कभी कभी एक विधि से सभी को समान परिणाम प्राप्त नहीं होते , आप अपनी समस्या हमें भी लिख सकते है |
विभिन्न विधियाँ —
=========
1 . लहसुन की कलियों को सरसों के तेल के साथ कुचलकर गर्म किया जाए और कपूर मिलाकर जोड़ों या दर्द वाले हिस्सों पर लगाकर मालिश की जाए तो बहुत जल्दी आराम मिलता है। लहसुन के एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते है, जो तुरंत असर दिखते है |
2. पारिजात की 6-7 ताजी पत्तियों को अदरक के रस के साथ कुचलकर , शहद मिलाकर मालिश किया जाये तो जोड़ दर्द में काफी आराम मिलता है।
3 . आक की पत्तियों को सतहों पर सरसों के तेल को लगाकर आँच पर सेंका जाए और दर्द वाले हिस्सों पर इससे हल्की सेंकाई की जाए तो जोड़ों के दर्द में तुरंत आराम मिलता है।
4 . शरीर की मालिश के लिए नीलगिरी का तेल उपयोग में लाया जाए तो गम्भीर सूजन तथा जोड़ों में होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है |
5. लहसुन को सरसों के तेल में जलाकर उस तेल से जोड़ों की मालिश करे जल्दी आराम मिलेगा |
9. बर्फ को कपडे में लपेटकर जोड़ों के चारों तरफ हलके हाथों से रगड़ने से रक्त संचार ठीक होने से जोड़ों के दर्द से मुक्ति मिलती हैं |
10 . तिल के तेल से जोड़ों की मालिस करने के बाद थोड़ी देर घूप में बैठने से दर्द से राहत मिलती है |
11 . सहजन के फूलों को तिल के तेल में जलाकर मालिश करने से जल्दी दर्द दूर होता है |
12 . मैथी दाने को सरसों के तेल में जलाकर मालिश करें, जल्दी आराम मिलेगा |
13 . कच्चे आलू को पीसकर जोड़ों पर लेप लगाने से कुछ दिन में समस्या जड़ से समाप्त हो जाती है |
14 . अरंडी के तेल में खीरा के बीज और लहसुन की कालिया पीसकर मिला लें , फिर इसे तेल में इतना उबालें की दोनों जल जाएँ, फिर छानकर प्रभावित स्थान पर मालिश करे |